अमिताभ बच्चन के साथ पहली बार फिल्म करने में घबराई हुई थीं जया प्रदा, बिग बी ने 2 घंटे में पूरा किया था एक सीन


अमिताभ बच्चन (Amitabh Bachchan) जल्द ही अपना 80वां जन्मदिन मनाने वाले हैं. लंबे समय से फिल्मी दुनिया में अपनी धमक बनाए रखने वाले बिग बी को लेकर तमाम किस्से मशहूर हैं. सदी के महानायक के तौर पर मशहूर अमिताभ से मिलने का सपना सिर्फ फैंस का ही नहीं होता है, बल्कि तमाम कलाकारों का भी होता है. सन 1984 में आई फिल्म ‘शराबी’ (Sharaabi) में फेमस एक्ट्रेस जया प्रदा (Jaya Prada) का भी सपना पूरा हुआ था, हालांकि फिल्म में काम करने से पहले जया बेहद घबराई हुई थीं. चलिए बताते हैं इसकी वजह.

अमिताभ बच्चन और प्रकाश मेहरा की जुगलबंदी में छठी फिल्म ‘शराबी’ बनी थी .फिल्म में अमिताभ एक अमीर बाप की औलाद बने थे, प्राण उनके पिता थे और जया प्रदा प्रेमिका की भूमिका में थीं. इस फिल्म के गाने हो या डायलॉग या फिर अमिताभ की एक्टिंग सब एक से बढ़कर एक लाजवाब है. इस फिल्म की हीरोइन जया प्रदा जब ‘मुझे नौलखा मंगा दे रे, ओ सइयां दीवाने’ पर नाचीं तो दर्शक भी सिनेमाघर में झूम उठे थे. 80 के दशक में ‘दे दे प्यार दे’ से लेकर ‘इंतहा हो गई इंतजार की’ जैसे गाने हर गली-मोहल्ले में खूब बजे थे.

जया प्रदा की घबराहट की वजह
अमिताभ बच्चन को लकी को-स्टार मानने वाली जया प्रदा ने पहली बार ‘शराबी’ में उनके साथ स्क्रीन शेयर करने का मौका मिला था. दूरदर्शन पर दिए एक इंटरव्यू में जया ने बताया था कि ‘मैं जब पहली बार अमिताभ से मिली थी तो बहुत घबराई हुई थीं, क्योंकि उनकी भाषा पर जबरदस्त पकड़ है और तब मैं इतनी अच्छी तरह से हिंदी नहीं जानती थी. लेकिन फिल्म की शूटिंग के समय उन्होंने मुझे बहुत सपोर्ट किया. मैंने उनसे अनुशासन भी सीखा. मैं तो बचपन से ही अमिताभ की फैन थी, इस फिल्म में काम करना मेरे लिए सपना सच होने जैसा था. मैं बहुत खुश थी कि ये फिल्म ब्लॉकबस्टर बनी’. इस फिल्म के रिलीज होते ही अमिताभ और जया प्रदा की जोड़ी छा गई थी.

45 रिटेक, 2 घंटे की मशक्कत के बाद अमिताभ ने पूरा किया एक सीन
अमिताभ आज भी अपने एक एक सीन के लिए काफी मेहनत करते हैं, उनके साथ काम कर चुके एक्टर्स और फिल्ममेकर भी जानते हैं कि अपने सीन को परफेक्ट बनाने के लिए बिग बी काफी रिहर्सल करते हैं.  मीडिया की खबरों की माने तो ‘शराबी’ का एक सीन शूट करने में अमिताभ बच्चन को करीब 45 बार रिटेक देना पड़ा था. 2 घंटे की कड़ी मेहनत के बाद जाकर सीन फाइनल हुआ था. दरअसल, फिल्म के एक सीन में प्राण बने पिता अपने बेटे को एक पार्टी में उन्हें गेस्ट से मिलवाते हैं. प्राण जब दारूवाले शख्स से मिलवाते हैं तो अमिताभ उन्हें गले लगाते हैं. सीन की शूटिंग में अमिताभ और दारूवाले की आवाज मैच नहीं हो पा रही थी. बार बार अलग अलग आवाजें आ रहीं थी. सटीक मैच करवाने के लिए ही इतना लंबा समय लग गया था’.

ये भी पढ़िए-KBC 14: अभिषेक बच्चन ने पापा अमिताभ को दिया ऐसा सरप्राइज, छलक आए बिग बी के आंसू! देखिए VIDEO

‘शराबी’ के गाने और डायलॉग्स थे जबरदस्त
1984 की जबरदस्त हिट फिल्म ‘शराबी’ के डायलॉग  फेमस एक्टर कादर खान ने लिखे थे. फिल्म के गीत अनजान ने लिखे थे और संगीत बप्पी लाहिड़ी ने दिया था. ‘शराबी’ फिल्म की कामयाबी में गानों का बड़ा हाथ था. ‘मुझे नौलखा मंगा दे रे, ओ सइयां दीवाने’, ‘दे दे प्यार दे’, ‘जहां चार यार मिल जाए’, ‘इंतहा हो गई इंतजार की’ जैसे सुपरहिट गानों की वजह से बप्पी  दा को सर्वश्रेष्ठ संगीतकार का पुरस्कार मिला था. प्रकाश मेहरा की इस फिल्म को उस साल के फिल्मफेयर अवॉर्ड में बेस्ट एक्टर समेत कुल 9 नॉमिनेशन मिले थे.

Tags: Amitabh bachchan, Entertainment Throwback, Jaya prada



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.