बोनी कपूर ने बताया ‘मिस्टर इंडिया’ बिना स्पेशल इफेक्ट्स के कैसे हुई थी शूट, पढ़ें यादगार किस्सा


नई दिल्ली: फिल्म निर्माता बोनी कपूर (Boney Kapoor) ने अपनी फिल्म ‘मिस्टर इंडिया’ (Mr. India) की सफलता को याद किया. ‘मिस्टर इंडिया’ में अनिल कपूर और श्रीदेवी मुख्य भूमिका में हैं. यह फिल्म साल 1987 की दूसरी सबसे अधिक कमाई करने वाली फिल्म थी, जिसके डायलॉग ‘मोगैम्बो खुश हुआ’ को लोग आज भी याद करते हैं.

लेकिन, फिल्म का सबसे दिलचस्प पहलू वह किस्सा था, जिसमें एक गरीब स्ट्रीट वायलिन वादक और दयालू व्यक्ति को अचानक एक घड़ी या एक क्लोकिंग डिवाइस मिल जाता है और उसे वह अपनी कलाई पर पहनने के बाद गायब हो जाता है.

बोनी ने फिल्म की शूटिंग के दौरान कुछ दिलचस्प सीन के बीटीएस मोमेंट्स के बारे में बताया. जब यह फिल्म शूट हुई थी, तब वीएफएक्स की सुविधा नहीं थी. वे कपिल शर्मा शो में बातचीत के दौरान कहते हैं, ‘मिस्टर इंडिया एक ऐसी फिल्म है, जहां पोस्ट-प्रोडक्शन के समय एक भी शॉट नहीं बनाया गया था. फिल्म में आप जो कुछ भी देखते हैं, वह कैमरे पर शूट किया गया था. हमारे पास अनूप पाटिल की अगुवाई वाली एक अद्भुत टीम थी, जिनके पास बड़ा हुनर था और उन्होंने मुख्य काम किया था.’

मिस्टर इंडिया की शूटिंग पूरी होने में लगे थे 380 दिन
वे आगे कहते हैं, ‘अगर आपको हनुमान वाला सीन याद है तो इसे पूरी तरह से कैमरे पर मैन्युअल तरीके से शूट किया गया था. ऐसा इसलिए है, क्योंकि मैं उन दिनों पोस्ट-प्रोडक्शन के स्पेशल इफेक्ट्स का प्रशंसक नहीं था. इसलिए मैंने जितना संभव हो सके, इससे बचने की योजना बनाई. फिल्म की शूटिंग खत्म करने में हमें लगभग 380 दिन लगे. ‘काटे नहीं कटते’ गाने को ही शूट करने में 21 दिन लग गए थे.’

गाने ‘काटे नहीं कटते’ की कैसे हुई थी शूटिंग
वे होस्ट कपिल शर्मा के साथ बातचीत में कहते हैं, ‘काटे नहीं कटते’ के लिए, हमने एक लाल सेट मॉडल तैयार किया था और यह तय किया कि गाने में केवल श्रीदेवी होंगी. रिकॉर्डिंग के बाद, अनिल ने अनुरोध किया कि वे गाने का हिस्सा बनना चाहते हैं. यह एक सुपरहिट गाना बनने जा रहा था, इसलिए हमने लाल ग्लास के घर और लाल शीशे को जोड़कर अंतिम समय में बदलाव किए, ताकि बड़ी चतुराई से यह दिखाया जा सके कि अनिल गाना गा रहे हैं. हमने सही रोशनी पाने के लिए दूसरी मंजिल पर एक और कांच का घर भी बनाया था.’

श्रीदेवी शूटिंग के वक्त हो गई थीं बीमार
बोनी कपूर आखिर में बताते हैं, ‘यह पहली बार था जब एक विंड मशीन का इस्तेमाल किया गया था, ताकि बाल और श्रीदेवी की साड़ी ठीक से लहराए. हल्की सी त्वचा भी नहीं दिखाई दे रही थी, लेकिन कोरियोग्राफी और म्यूजिक ने गाने को खूबसूरत बना दिया. श्रीदेवी 2-3 दिनों के लिए शूटिंग के दौरान बीमार पड़ गई थीं, फिर भी उन्होंने गाने को बुखार में शूट किया.’

Tags: Anil kapoor, Boney Kapoor, Sridevi



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.