राजकुमार राव बोले- ‘बॉलीवुड में हमेशा रहेगा नेपोटिज्म, लेकिन प्रतिभा और काम का बजेगा डंका’


राजकुमार राव (Rajkummar Rao) इन दिनों अपनी अपकमिंग साइकोथ्रिलर फिल्म ‘हिटः द फर्स्ट केस’ (Hit The First Case)को लेकर चर्चा में हैं. इस में फिल्म में राजकुमार के अपॉजिट सान्या मल्होत्रा हैं. फिल्म रिलजी से पहले राजकुमार ने बॉलीवुड इंडस्ट्री में नेपोटिज्म यानी भाई-भतीजावाद के बारे में बात की. उन्होंने कहा है कि इंडस्ट्री में नेपोटिज्म हमेशा रहेगा. राजकुमार ने यह भी कहा कि भाई-भतीजावाद मौजूद है, लेकिन इंडस्ट्री में कई अवसर भी हैं. उन्होंने जयदीप अहलावत और प्रतीक गांधी जैसे अपने दोस्तों और क्लासमेट्स के बारे में बात की, जिन्हें ओटीटी प्लेटफॉर्म के जरिए पहचान मिल रही है.

राजकुमार राव ने इंडिया टुडे को दिए इंटरव्यू में कहा,”इंडस्ट्री में भाई-भतीजावाद हमेशा रहेगा, लेकिन अब कई अवसर हैं. मेरे ऐसे दोस्त हैं जो मेरे क्लासमेट्स थे लेकिन उन्हें अब पहचान मिल रही हैं. इसके लिए ओटीटी प्लेटफार्म्स को धन्यवाद कहना चाहिए. जयदीप अहलावत जिन्होंने ‘पाताल लोक’ में और ‘स्कैम 1992’ में प्रतीक गांधी ने अच्छा काम किया. भाई-भतीजावाद होगा, लेकिन आपका काम और प्रतिभा बोलेगी.”

‘HIT’ के रिलीज से पहले वाइफ पत्रलेखा संग ‘Couple Goals’ देते दिखे राजकुमार राव, कपल की मनमोहक तस्वीर हुई वायरल

राजकुमार राव ने हिट फिल्मों और प्राथमिकता देने वाली फिल्मों के बारे में भी बताया. उन्होंने कहा,”कोई भी हिट फिल्म का फॉर्मूला नहीं जानता है, आपको कोशिश करते रहना है और फिर इसे नियति पर छोड़ देना है. मैंने सच में इस बारे में नहीं सोचा है कि दक्षिण की फिल्में अच्छा प्रदर्शन क्यों कर रही हैं, शायद इसलिए कि वे अच्छी फिल्में हैं, कड़ी मेहनत दिखाती हैं.”

सिनेमा में लार्जर दैन लाइफ का दौरः राजकुमार

राजकुमार राव ने आगे कहा, “लेकिन मेरा मानना ​​है कि सिनेमा कई चरणों से गुजरता है, एक समय हम स्विट्जरलैंड में गाने की शूटिंग कर रहे थे, फिर हमने छोटे शहरों की कहानियां सुनाना शुरू किया, और अब यह जीवन से बड़े सिनेमा का समय है जो साउथ दे रहा है. लेकिन, एक अभिनेता के रूप में, मैं ऐसी फिल्में करूंगा जिन पर मुझे गर्व होगा. मैं नहीं चाहता कि मैं एक झुंड का हिस्सा बनूं. अगर मेरी फिल्में बॉक्स ऑफिस पर 100 करोड़ रुपये नहीं कमाती हैं, तो कोई बात नहीं.”

राजकुमार को सपोर्टिंग रोल से मिली पहचान

राजकुमार राव ने अपने अभिनय की शुरुआत साल 2010 में आई फिल्म ‘लव सेक्स और धोखा’ से की, लेकिन ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर-पार्ट 2’ और ‘तलाश: द आंसर लाइज विदिन’ में सपोर्टिंग रोल से उन्हें पहचान मिली. उन्होंने ‘काई पो चे’, ‘शाहिद’, ‘क्वीन’, ‘बरेली की बर्फी’, ‘अलीगढ़’, ‘लूडो’,’ न्यूटन’, ‘द व्हाइट टाइगर’ और ‘स्त्री’ समेत कई फिल्मों में काम किया. राजकुमार ने ‘शाहिद’ के लिए राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार जीता था.

Tags: Rajkumar Rao, Rajkummar Rao



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.