राजीव कपूर की आखिरी फिल्म ‘तुलसीदास जूनियर’ ने जीता नेशनल अवॉर्ड तो गदगद हो गए भाई रणधीर- दिया ये रिएक्शन


National Film Awards 2022: 68वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कारों का ऐलान हो चुका है, जिसमें हिंदी के अलावा अन्य भाषाओं की फिल्मों ने भी खूब धमाल मचाया. इस बार राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में अजय देवगन (Ajay Devgn) की ‘तान्हाजीः द अनसंग वॉरियर’ और साउथ सुपरस्टार सूर्या (Suriya) की ‘सोराराई पोतरू’ का बोलबाला देखने को मिला. दोनों ही फिल्मों ने नेशनल फिल्म अवॉर्ड्स में बड़ी जीत हासिल की है. कार्यक्रम में एक और फिल्म ने राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में एक और फिल्म चमकी, जिसने अवॉर्ड जीतकर ना सिर्फ लोगों का दिल खुश कर दिया बल्कि लोगों को चौंकाया भी. यह फिल्म थी ‘तुलसीदास जूनियर’ (Toolsidas Junior).

तुलसीदास जूनियर ने राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में बेस्ट हिंदी फिल्म का अवॉर्ड जीता है. इस फिल्म को लेकर अब बॉलीवुड के दिग्गज अभिनेता रणधीर कपूर का रिएक्शन भी सामने आया है. दरअसल, यह कपूर खानदान के जाने-माने सदस्य राजीव कपूर की आखिरी फिल्म है. इस फिल्म के जरिए उन्होंने 30 सालों बाद बड़े पर्दे पर वापसी की थी, लेकिन फिल्म के रिलीज होने से पहले ही उनका निधन हो गया. यह फिल्म 21 मई 2022 को रिलीज हुई थी.

तुलसीदास जूनियर को 21 मई 2022 को टीवी पर रिलीज किए जाने के 2 दिन बाद नेटफ्लिक्स पर भी रिलीज किया गया. तुलसीदास जूनियर में राजीव कपूर के साथ संजय दत्त और चाइल्ड एक्टर वरुण बुद्धदेव भी लीड रोल में थे. इसके अलावा दिलीप ताहिल भी इस फिल्म में अहम भूमिका में नजर आए.

‘तुलसीदास जूनियर’ के नेशनल अवॉर्ड जीतने पर क्या बोले रणधीर कपूर
Pinkvilla से बात करते हुए रणधीर कपूर ने अपने दिवंगत भाई राजीव कपूर की आखिरी फिल्म के नेशनल अवॉर्ड जीतने पर खुशी जाहिर की है. उन्होंने कहा- ‘मैं बहुत खुश हूं. यह बहुत ही अच्छी पिक्चर है. उन्होंने फिल्म में बेहद शानदार काम किया है. मैं बहुत खुश हूं. हम फिल्म के लिए बहुत खुश हूं. अगर वह यहां होते तो मैं उन्हें कुछ जरूर देता.’

‘तुलसीदास जूनियर’ की कहानी
तुलसीदास जूनियर की कहानी एक स्नूकर प्लेयर मृदुल तुलसीदास के इर्द-गिर्द घूमती है. तुलसीदास जो अपने बेटे के लिए स्नूकर खेलता है, टूर्नामेंट में अपने एक दुश्मन से हार जाता है. इसके बाद तुलसीदास का बेटा मृदुल तुलसीदास यानी तुलसीदास जूनियर इस टूर्नामेंट में खेलता है और जीतता भी है. फिल्म की कहानी मृदुल तुलसीदास की जिंदगी पर आधारित है, जिन्होंने इस फिल्म का स्क्रीनप्ले तैयार किया और इसे लिखा भी.

Tags: National Film Awards, Rajiv Kapoor, Randhir kapoor



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.