‘लाल सिंह चड्ढा’ के बनने की कहानी है काफी दिलचस्प, ‘फॉरेस्ट गंप’ के राइट्स पाने में लग गए थे इतने साल!


आमिर खान (Aamir Khan) की अगली फिल्म ‘लाल सिंह चड्ढा’ की रिलीज का दर्शक बेसब्री से इंतजार कर रहे हैं. अद्वैत चंदन के निर्देशन में बनी इस फिल्म से अनुभवी एक्टर अतुल कुलकर्णी बतौर फिल्म राइटर शुरुआत कर रहे हैं. हालांकि, कम ही लोग जानते हैं कि ‘लाल सिंह चड्ढा’ को बनाने के बारे में करीब 14 साल पहले सोचा गया था.

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, अतुल कुलकर्णी ने एक बातचीत के दौरान खुलासा किया गया कि साल 2008 में फिल्म ‘जाने तू … या जाने न’ के प्रीमियर के दौरान उन्होंने आमिर खान से मुलाकात की और सिनेमा को लेकर उनसे बातचीत की. तभी अतुल को प्रेरणा मिली और उन्हें ‘लाल सिंह चड्ढा’ लिखने का आइडिया आया. संयोग की बात थी कि आमिर ‘जाने तू… या जाने न’ के निर्माता थे.

अतुल कुलकर्णी ने लिखी है ‘फॉरेस्ट गंप’
आमिर और अतुल ने एक-दूसरे को बताया था कि वे ‘फॉरेस्ट गंप’ जैसी शानदार फिल्म से कितने मोहित हैं. बता दें कि ‘लाल सिंह चड्ढा’ हॉलीवुड की ‘फॉरेस्ट गंप’ की आधिकारिक रीमेक है. वे चर्चा करते हुए इस बात पर सहमत हुए कि यह फिल्म ज्यादा लोगों तक पहुंची चाहिए. इस बातचीत के बाद, अतुल ने ‘लाल सिंह चड्ढा’ को लिखने का फैसला किया, क्योंकि वे एक मासूम युवक की कहानी बताना चाहते थे, जिसे पता चलता है कि जीवन को खुशी के साथ कैसे जीना है.

‘फॉरेस्ट गंप’ के राइट्स हासिल करना नहीं था आसान
फिल्म अपने-आप मे एक अनूठी कृति है, पर ‘लाल सिंह चड्ढा’ को बनाने के पीछे की यात्रा आसान नहीं थी. फिल्म मेकर्स को ‘फॉरेस्ट गंप’ के अधिकार हासिल करने में लगभग आठ साल लग गए थे. अतुल कुलकर्णी मूल स्क्रिप्ट से हिंदी फिल्म लिख पाए, उससे खुशी और सम्मानित महसूस करते हैं.

11 अगस्त को रिलीज होगी ‘लाल सिंह चड्ढा’
अतुल से जब पूछा गया कि क्या वे एक पेशेवर स्क्रिप्ट राइटर बनने की योजना बना रहे हैं, तो अतुल ने खुलासा किया कि वे एक पेशेवर लेखक नहीं हैं और वे डिमांड या मजबूरी में नहीं लिखते हैं. आमिर खान, करीना कपूर खान, नागा चैतन्य और मोना सिंह के अभिनय से सजी ‘लाल सिंह चड्ढा’ 11 अगस्त को सिनेमाघरों में रिलीज होने के लिए तैयार है.

Tags: Aamir khan, Laal Singh Chaddha



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.