विवेक अग्निहोत्री ने अनुराग कश्यप और करण जौहर पर साधा निशाना, कहा-‘बॉलीवुड में बढ़ रहा अहंकार’


विवेक अग्निहोत्री (Vivek Agnihotri ) फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ (The Kashmir Files) के बाद लगातार चर्चा में बने हुए हैं. विवेक की इस फिल्म ने बॉक्स ऑफिस पर शानदार कमाई की है. खुलकर अपनी राय रखने वाले फिल्ममेकर ने हाल ही में ‘द कश्मीर फाइल्स’  को लेकर दिए गए अनुराग कश्यप (Anurag Kashyap) के कमेंट समेत बॉलीवुड से जुड़ी कई समसमस्याओं और कई मुद्दों पर अपनी बात रखी. विवेक का कहना है कि फेवरेट एक्टर्स को लेकर दर्शकों की बनी हुई धारणा को एरोगेंस ने प्रभावित किया है. साथ ही ये भी बताया कि बॉलीवुड फिल्में क्यों नहीं चल रही.

हाल ही में ‘दो बारा’ निर्देशक ने कहा था कि मैं चाहूंगा कि विवेक अग्निहोत्री की फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ ऑस्कर के लिए ना भेजी जाए. इस पर ईटाइम्स से बात करते हुए विवेक अग्निहोत्री ने कहा कि ‘मैं अनुराग कश्यप के बारे में बात करना चाहता हूं कि या तो आप बहुत शातिर है या फिर आपको मुझसे कोई व्यक्तिगत खुन्नस है. या तो आप भोले हैं या फिर आपका कोई राजनीतिक एजेंडा है. कोई फिल्म ऑस्कर में जाए इसकी चाहत रखना तो ठीक है लेकिन कोई ये नहीं कह सकता कि फलां फिल्म ऑस्कर के लिए नहीं जानी चाहिए’.

अनुराग कश्यप को विवेक ने लिए आड़े हाथ

विवेक ने आगे कहा कि  ‘आप कहते हैं कि पॉलिटिकल फिल्म एकेडमी अवॉर्ड के लिए नहीं जानी चाहिए और आप चाहते हैं कि उसकी जगह ‘RRR’ जाए. लेकिन जब आप ये कहते हैं कि ‘द कश्मीर फाइल्स’ ऑस्कर के लिए नहीं भेजी जाए तो आप एक राजनीतिक खेल खेल रहे हैं. ऐसे में जो लोग मुझे पसंद नहीं करते वो चर्चा में शामिल हो जाते हैं. फिर आपको एक बायस्ड जूरी भी मिल जाती है. मुझे लगा कि मेरे लिए अपनी फिल्म और फिल्म से जुड़े सभी कश्मीरी हिंदुओं की भावनाओं की रक्षा करना मेरे लिए ज्यादा जरूरी है’.

अच्छी स्टोरी की समझ ही नहीं है

विवेक अग्निहोत्री से जब पूछा गया कि क्या आपको लगता है कि ‘फिल्म इंडस्ट्री का एक वर्ग आपके खिलाफ काम कर रहा है तो इस पर विवेक ने कहा कि ‘देखिए पहले सत्ता कई लोगों के हाथ में थी. कई इंडिपिडेंट प्रोड्यूसर थे. कई सोर्स से पैसा आ रहा था. फिल्ममेकर्स पर बहुत दबाव होता था कि फिल्में बॉक्स ऑफिस पर अच्छा प्रदर्शन करें क्योंकि वह ब्याज पर पैसे लेते थे. जब कॉर्पोरेट स्टूडियो आए तो वो कुछ बड़े फिल्म निर्माताओं के थे. उन्हें पता ही नहीं कि अच्छी स्टोरी क्या होती है. वे उन्हें मोटी रकम देने लग गए, फिर ओटीटी आया और उन्होंने फिल्मों के बजट से ज्यादा भुगतान करना शुरू कर दिया. तो अगर मैं 150 करोड़ में एक फिल्म बना रहा हूं और ओटीटी मुझे 180 करोड़ दे रहा है तो मुझे दर्शकों या किसी के बारे में क्यों परेशान होना चाहिए? फिर ब्रांड एंडोर्समेंट है. स्टार्स यहां तक कि डायरेक्टर्स 2-3 साल में एक फिल्म बना रहे हैं. इसी बीच ब्रांड एंडोर्समेंट कर रहे हैं’.

ये भी पढ़िए-‘The Kashmir Files’ को लेकर अनुराग कश्यप के बयान पर भड़के विवेक अग्निहोत्री, कहा-‘फिल्म के खिलाफ कैंपेन शुरू’

करण जौहर पर साधा निशाना

विवेक ने कहा ‘करण जौहर कहते हैं कि उन्होंने लंबे समय से फिल्म नहीं बनाई लेकिन रियलिटी शो, ब्रांड एंडोर्समेंट और फैशन आदि करते रहते हैं. 80 फीसदी समय फिल्मों के अलावा दूसरे काम कर रहे हैं. इससे एरोगेंस होता है जो पूरी तरह से रियल लाइफ से अलग कर देता है और उस प्रॉसेस में अपने ही दर्शकों का उपहास उड़ाना शुरू कर देते हैं. मैं आपको एकेडमिक इनसाइट दूंगा कि फिल्में क्यों नहीं चल रही हैं. कोविड के बाद रिलीज होने वाली फिल्मों को देख लीजिए, ‘जयेशभाई जोरदार’, ‘शमशेरा’, ‘दो बारा’ कोई प्रमोशन में अपनी फिल्मों के बारे में बात ही नहीं कर रहें हैं. अहंकार इतना बढ़ गया है तो फिल्में भी उसी तरह से काम करेंगी’.

Tags: Anurag Kashyap, Karan johar, Vivek Agnihotri



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.