स्वरा भास्कर को बॉलीवुड में नहीं मिल रहा काम, एक्ट्रेस ने कहा-‘रिस्क लेने का भुगतना पड़ रहा खामियाजा’


मुंबई: स्वरा भास्कर (Swara Bhaskar) बॉलीवुड की बेबाक और शानदार एक्ट्रेस मानी जाती हैं. एक्टिंग के साथ-साथ सामाजिक-राजनीतिक मुद्दों पर भी स्वरा बेबाकी से अपनी राय रखती हैं. सोशल मीडिया पर खूब एक्टिव रहती हैं और अपने बयानों की वजह से अक्सर ट्रोल भी होती रहती हैं. स्वरा ने बॉलीवुड को एक दो नहीं बल्कि करीब 7 हिट फिल्में दी हैं. बावजूद इसके उनके पास जितना काम होना चाहिए, नहीं है. हाल ही में दिए एक इंटरव्यू में एक्ट्रेस का दर्द छलक पड़ा.

टाइम्स ऑफ इंडिया को दिए इंटरव्यू में स्वरा भास्कर ने बताया कि ‘मैंने जान बूझकर रिस्क लिया है. मुझे अपना काम सबसे ज्यादा प्यारा है. इस रिस्क की बड़ी कीमत है. निजी और इमोशनल रुप से रहा है. मुझे पर्याप्त काम नहीं मिलता है. जो मौके मुझे मिले हैं, उससे कहीं ज्यादा बेहतर एक्टर हूं मैं और उससे अधिक काम करने में भी सक्षम हूं. मेरे करियर का ट्रैक रिकॉर्ड बेहतर रहा है. मैं 6-7 ब्लॉकबस्टर फिल्मों का हिस्सा रही हूं. वेब सीरीज में लीड थी, कभी मुझे खराब रिव्यू नहीं मिले. मुझे ऐसा फील नहीं होना चाहिए कि मुझे पर्याप्त काम नहीं मिलता लेकिन ये साफ है कि उतना काम नहीं है’.

स्वरा राजनीतिक मुद्दों पर भी एक्टिव रहती हैं
‘वीरे दी वेडिंग’, ‘नील बटे सन्नाटा’, ‘प्रेम रतन धन पायो’, ‘जहां चार यार’ जैसी फिल्मों में शानदार अदाकारी करने वाली स्वरा अपने विवादित बयानों की वजह से सुर्खियों में रहती हैं. हाल ही में स्वरा कांग्रेस नेता राहुल गांधी की भारत जोड़ो यात्रा का हिस्सा बनी थीं. इस यात्रा का हिस्सा बन स्वरा खूब चर्चा में रहीं. किसी ने एक्ट्रेस के इस कदम की तारीफ की तो किसी ने आलोचना की. इस दौरान ली गई तस्वीरों को एक्ट्रेस ने अपने इंस्टाग्राम पर भी शेयर किया है.

स्वरा भास्कर सोशल मीडिया पर काफी एक्टिव रहती हैं. फोटो साभार- instagram @reallyswara)

अपने बयानों की वजह से भी विवादों में रहती हैं
इसके अलावा आईआईएफटी में इजरायली फिल्ममेकर नादव लैपिड ने विवेक अग्निहोत्री की फिल्म ‘द कश्मीर फाइल्स’ की आलोचना की थी. जिसकी कई सेलेब्स ने आलोचना की तो कई ने सही ठहराया था. स्वरा ने नादव के बयान का समर्थन किया था.

स्वरा भास्कर के वर्कफ्रंट की बात करें तो अपकमिंग फिल्में ‘मीमांसा’ और ‘मिसेज फलानी’ है.

Tags: Bollywood, Swara Bhaskar



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Exit mobile version