33 Years Of Parinda: अनिल कपूर-माधुरी दीक्षित की गेम चेंजर फिल्म बनी ‘परिंदा’, विधु विनोद चोपड़ा भी रह गए हैरान


नई दिल्ली: ऐसा माना जाता है कि भारी-भरकम बजट वाली फिल्में ही दर्शकों को पसंद आती हैं लेकिन 33 साल पहले रिलीज हुई फिल्म ‘परिंदा’ इस गलतफहमी को दूर करती है. आर डी बर्मन के संगीत से सजी इस फिल्म की कहानी, एडिटिंग और एक्टर्स की परफॉर्मेंस ही नहीं बल्कि संगीत भी लाजवाब था. आशा भोसले और सुरेश वाडेकर की आवाज में गाया गया गाना ‘तुमसे मिलकर.. ऐसा लगा तुमसे मिलकर’ गाने को लोग आज भी गुनगुनाते हैं. विधु विनोद चोपड़ा  (Vidhu Vinod Chopra) के निर्देशन में बनी इस फिल्म को 37वें राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार में 2 अवॉर्ड मिले थे. 3 नवंबर 1989 में रिलीज हुई फिल्म ‘परिंदा’ में यूं तो माधुरी दीक्षित (Madhuri dixit), अनिल कपूर  (Anil Kapoor)  और जैकी श्रॉफ (Jackie Shroff) जैसे सितारे थे लेकिन नाना पाटेकर (Nana Patekar) को सर्वश्रेष्ठ को-एक्टर का अवॉर्ड मिला था. इतना ही नहीं इस फिल्म की बेस्ट एडिटिंग के लिए रेनू सलूजा को अवॉर्ड मिला था. फिल्मफेयर में 5 अवॉर्ड अपने नाम किए. ऐसी जबरदस्त फिल्म की मेकिंग ही नहीं बल्कि सितारों के लिए यादगार फिल्म है.

नाना पाटेकर की डायलॉग डिलेवरी का अनोखा अंदाज भला किसे याद नहीं होगा. परिंदा में नाना की कमाल की एक्टिंग का ही कमाल था कि उन्हें बेस्ट सपोर्टिंग एक्टर का नेशनल अवॉर्ड मिला था. नाना के डायलॉग पर कई मीम्स अक्सर सुने जाते हैं. ‘परिंदा’ क्राइम ड्रामा पर आधारित ऐसी फिल्म है जिसे हिंदी सिनेमा में यथार्थवाद की शुरुआत करने वाला माना जाता है. इस फिल्म को टैग लाइन दिया गया था ‘The Most Powerful Film Ever Made’.

12 लाख के बजट में बनी थी ‘परिंदा’

फिल्म के डायरेक्टर विधु विनोद चोपड़ा ने मीडिया से बात करते हुए खुद माना था कि ‘अभी भी हमे भरोसा नहीं होता है कि इतने बरस पहले हमने इस फिल्म को शूट किया था. फिल्म का बजट भी कम था, और टेक्नोलॉजी भी ऐसी नहीं थी . आजकल तो टेक्नोलॉजी इतनी एडवांस हो गई है कि फिल्म बनाना आसान हो गया है, लेकिन फिल्म की पूरी टीम ने नामुकिन को मुमकिन कर दिखाया था. फिल्म के एक्शन और बाकी सीन शानदार तरीके से फिल्मा पाए थे क्योंकि क्रू मेंबर और एक्टर्स ने जबरदस्त काम किया था.’ इतना ही नहीं जिस फिल्म ने सिनेमा का रुख बदल कर रख दिया, जिसे गेम चेंजर माना जाता है, उस फिल्म बजट मात्र 12 लाख रुपए बताया गया था’.

माधुरी दीक्षित ने पहली बार डेथ सीन दिया था

‘परिंदा’ में जैकी श्रॉफ और अनिल कपूर की जोड़ी ने जबरदस्त अदायगी दिखाई थी. फिल्म जब रिलीज हुई तो जबरदस्त सफलता मिली. मीडिया रिपोर्ट की माने तो अनिल कपूर के भाई का रोल करने का नसीरुद्दीन शाह को ऑफर दिया गया था ,लेकिन उन्होंने ये कह कर फिल्म करने से इनकार कर दिया था कि जब छोटे भाई यानी अनिल कपूर  का मर्डर हो जाएगा तो फिल्म देखने के लिए कोई सिनेमाघर में रुकेगा नहीं. वहीं फिल्म की लीड एक्ट्रेस माधुरी दीक्षित ने ‘परिंदा’ में पारो का किरदार निभाया था. इस फिल्म के बारे में खुद माधुरी दीक्षित ने बताया था कि फिल्म की टैगलाइन ‘द मोस्ट पॉवरफुल फिल्म एवर मेड’ इसे पूरी तरह जस्टिफाई करती है. पहली बार मैंने इस फिल्म में डेथ सीन दिया था. फिल्म में काम करने का एक्सपीरिएंस बेहतरीन था.

ये भी पढ़िए-49 Years Of Yadon Ki Barat: बॉलीवुड की पहली मसाला फिल्म, जीनत अमान-धर्मेंद्र पर भारी पड़ गए थे विजय अरोड़ा

हिंदी सिनेमा की कल्ट फिल्म ‘परिंदा’ में माधुरी दीक्षित-अनिल कपूर, नाना पाटेकर, जैकी श्रॉफ के अलावा अनुपम खेर ,सुरेश ओबरॉय और टॉम अल्टर जैसे दिग्गज कलाकार भी थे.

Tags: Anil kapoor, Entertainment Special, Madhuri dixit, Nana patekar



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.