49 Years Of Yadon Ki Barat: बॉलीवुड की पहली मसाला फिल्म, जीनत अमान-धर्मेंद्र पर भारी पड़ गए थे विजय अरोड़ा


नई दिल्ली. कई एक्टर ऐसे होते हैं जो एक्टिंग भी शानदार करते हैं, हैंडसम भी होते हैं लेकिन फिर भी कामयाबी उनके कदम नहीं चूमती. एक ऐसे ही एक्टर विजय अरोड़ा (Vijay Arora) के बारे में हम बात करेंगे, जिनकी फिल्म ‘यादों की बारात’ को 49 साल बीत गए हैं. शायद बहुत से लोगों ने इस नाम को सुना भी नहीं होगा. 2 नवंबर 1973 में रिलीज हुई  फिल्म  ‘यादों की बारात’ ने विजय को रातों-रात स्टार बना दिया था. इस फिल्म को बॉलीवुड की पहली मसाला फिल्म कहते हैं.  ‘यादों की बारात’ में जीनत अमान (Zeenat Aman), धर्मेंद्र (Dharmendra), नीतू सिंह (Neetu Singh) जैसे दिग्गज कलाकार थे लेकिन विजय अरोड़ा पर्दे पर ही नहीं बल्कि फिल्म इंडस्ट्री पर छा गए. इस एक्टर के बारे में आज कम लोग ही जानते हैं.

49 बरस पहले रिलीज हुई फिल्म ‘यादों की बारात’ जबरदस्त हिट हुई थी, इस फिल्म का गाना ‘चुरा लिया है तुमने जो दिल को’ को आज भी उतने ही चाव से सुना जाता है जितना 49 साल पहले सुना गया था. 1973 में फिल्म आई इस फिल्म में धर्मेंद्र लीड एक्टर थे. नीतू सिंह और जीनत अमान जैसी खूबसूरत एक्ट्रेस भी थीं, लेकिन जिस एक्टर ने इन तीनों को पीछे छोड़ दिया, वह थें विजय अरोड़ा. कहते हैं कि पर्दे पर जीनत से अधिक विजय को दर्शकों ने पसंद किया. ये बात सुनने में कुछ अजीब लग सकती है लेकिन है सौ फीसदी सच. हैंडसम एक्टर विजय की लड़कियां दीवानी हो गईं. बता दें कि ये वही दौर था जब हर तरफ राजेश खन्ना का जलवा था.

राजेश खन्ना भी विजय अरोड़ा की तारीफ करते थे
बॉलीवुड के पहले सुपरस्टार राजेश को लेकर दीवानगी का आलम ये था कि राजेश को टक्कर देने वाला ही कोई नहीं था. लेकिन फिल्म ‘यादों की बारात’ के बाद तो हर तरफ विजय की चर्चा होने लगी. कहते हैं कि ऐसे में राजेश को भी उनसे डर लगने लगा था. हैंडसम विजय अरोड़ा का संवाद अदायगी में भी कोई सानी नहीं था. विजय जब सिल्वर स्क्रीन पर डायलॉग्स बोलते थे तो दर्शक पलक झपकाए बिना टकटकी लगाए देखते रह जाते थे. ऐसे कमाल के एक्टर विजय ने राजेश खन्ना के साथ भी ‘रोटी’, ‘सौतन’, ‘निशान’ जैसी कुछ फिल्मों में काम किया. राजेश भी विजय के मुरीद थे, उन्होंने मीडिया को दिए एक इंटरव्यू में कहा था कि ‘अगर उनकी जगह कोई ले सकता है तो सिर्फ विजय’.

विजय अरोड़ा की सितारा बुलंदी पर नहीं पहुंचा
70-80 के दौर में लीड एक्टर और को-एक्टर के तौर पर विजय ने कई फिल्मों में काम किया. फिल्मी दुनिया में कदम रखने से पहले पुणे फिल्म एंड टेलीविजन इंस्टीट्यूट ऑफ इंडिया से ग्रेजुएशन किया था. विजय में जितनी क्षमता थी उस लिहाज से सफलता हासिल नहीं कर पाए. ऐसे शानदार एक्टर विजय का सितारा बुलंदी पर ही नहीं पहुंचा. इसकी वजह तो पता नहीं लेकिन जिसे सुपरस्टार बनना चाहिए था वो नजर आया रामानंद सागर के प्रसिद्ध टीवी धारावाहिक ‘रामायण’ में , वो भी रावण के पुत्र मेघनाद के रुप में. इस भूमिका में भी विजय की काफी सराहना हुई. साल 2007 में कैंसर से विजय का निधन हो गया, लेकिन 70 के दशक का ये हैंडसम हीरो गुमनामी में ही रहा.

‘चुरा लिया है तुमने जो दिल को’ गाना आज भी पसंद किया जाता है
‘यादों की बारात’ को बॉलीवुड की पहली मसाला फिल्म कहते हैं जिसकी पटकथा सलीम-जावेद ने फिल्म लिखी थी और नासिर हुसैन डायरेक्टर प्रोड्यूसर थे. इस फिल्म में आर डी बर्मन ने संगीत दिया था और गाने मजरुह सुल्तानपुरी ने लिखे थे. आशा भोसले और मोहम्मद रफी की आवाज में गाया ‘चुरा लिया है तुमने जो दिल को’ आज भी जबरदस्त हिट है. इस फिल्म की अपार सफलता ही थी कि इसे तमिल, तेलुगू और मलयालम में भी बनाया गया था.

Tags: Dharmendra, Entertainment Special, Neetu Singh, Zeenat aman



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *