Adipurush Controversy: बॉलीवुड मूवीज और विवादों का रहा है पुराना नाता, समझें क्या है पीछे का गणित


हाइलाइट्स

फिल्म ‘आदिपुरुष’ से क्यों बढ़ा विवाद.
विवाद से फिल्म को क्या होगा फायदा.

फिल्म ‘आदिपुरुष’ (Adipurush) इस समय हॉट टॉपिक है. फिल्म के किरदारों को लेकर एक बहस छिड़ी हुई है. कौन सही है? कौन गलत है? फिल्म पर कितना असर पड़ेगा? कितना बदलाव होगा? मेकर्स क्या करेंगे? विरोध कितना बढ़ेगा? इन सब सवालों के जवाब आने वाले समय में पता चलेंगे. ​फिल्म की पटकथा, ​फिल्मांकन और किरदारों को लेकर विवाद आज का नहीं है. पुराने दौर में भी कई फिल्में ऐसी आई हैं, जिनका विवादों से गहरा नाता रहा है. फिल्म पर विवाद होना, उसकी चर्चा होना और राजनीतिक एंगल का जुड़ना कई बार नियोजित भी होता है. आइए, जानते हैं किन फिल्मों से विवाद जुड़े हैं और इसके पीछे का समीकरण क्या है…

क्या है विवाद
फिल्मों और विवाद पर बात करने से पहले एक बार यह जान लेते हैं कि आखिर विवाद क्या है? दो अक्टूबर को प्रभास (Prabhas), सैफ अली खान (Saif Ali Khan) और कृति सैनन (Kriti Sanon) अभि​नीत फिल्म ‘आदिपुरुष’ का टीजर रिलीज किया गया था. फिल्म में रामायण के किरदारों के लुक को लेकर हंगामा शुरू हुआ है. फिल्म में रावण की भूमिका में दिख रहे सैफ के लुक को अलाउद्दीन खिलजी के लुक से मिलता जुलता बताया जा रहा है. ओम राउत निर्देशित इस फिल्म को हिंदू धर्म से खिलवाड़ बताया जा रहा है. इस कारण

इन फिल्मों से जुड़ा है विवाद
गरम हवा (1973) : भारत पाक विभाजन पर आधारित इस फिल्म को विरोध का सामना करना पड़ा था. इससे हिंस बढ़ने का अंदेशा जताया गया था.

जूली (1975) : इस फिल्म में इटर कास्ट मैरिज को दिखाया गया था, जिसे सही नहीं माना गया था.

आंधी (1975) : महिला राजीनितज्ञ पर आधारित इस फिल्म को इंदिरा गांधी और उनके निजी रिश्तों पर आधारित बताया गया था, जिससे इसे लेकर काफी विवाद उपजा था.

बैंडिट क्वीन (1994) : शेखर कपूर निर्देशित यह फिल्म डकैत फूलन देवी पर आधारित थी. फिल्म में गाली गलौज, नग्नता, हिंसा को दिखाया गया था, जिससे विवाद गहरा गया था.

फायर (1996) : होमो सैक्सुअल रिलेशनशिप पर बनी इस ​फिल्म को दीपा मेहता ने ​बनाया था. फिल्म का विषय ही विवाद का हिस्सा बन गया था, फिल्म के पोस्टर्स तक जलाए गए थे.

कामसूत्र: अ टेल ऑफ लव (1996) : मीरा नायर निर्देशित इस फिल्म को भारत में बैन कर दिया गया था. फिल्म का सैक्सुअल कटेंट चर्चा का विषय बन गया था.

पांच (2003) : अनुराग कश्यप की पहली फिल्म ‘पांच’ ड्रग, सैक्सुअल कंटेंट को लेकर इतनी विवादों मे आई कि रिलीज ही नहीं हो सकी. हालांकि यह 2010 में लीक हो गई थी.

हवा आने दे (2004) : इस इंडो फ्रेंच फिल्म का विषय भारत पाकिस्तान युद्ध पर आधारित था. सेंसर बोर्ड ने कई कट इस फिल्म के लिए बताए थे लेकिन निर्देशक ने यह नहीं माने और भारत में यह फिल्म रिलीज नहीं हुई.

वॉटर (2005) : दीपा मेहता की बनारस में आश्रम में रहने वाली विधवा की जिंदगी पर आधारित इस फिल्म पर काफी हंगामा हुआ था. फिल्म पर धार्मिक आस्थाओं से खिलवाड़ का आरोप लगा था.

ब्लैक फ्राईडे (2007) : मुम्बई बम ब्लास्ट पर आधारित अनुराग कश्यप की इस फिल्म पर काफी विवाद हुआ था. फिल्म की रिलीज से पहले मेकर्स को कोर्ट में इसके लिए लड़ना पड़ा था.

ऐ दिल है मुश्किल (2016) : उरी अटैक के बाद पाकिस्तानी फिल्म कलाकारों को बॉलीवुड में बैन कर दिया गया था. करण जौहर की इस फिल्म में फवाद खान अहम भूमिका में थे. विवाद के बाद फवाद के काफी सीन काटने पड़े थे.

5 Years Of Ae Dil Hai Mushkil: ऐश्वर्या राय संग इंटीमेट सीन करते समय जब रणबीर कपूर के कांपने लगे थे हाथ

पद्मावत (2017) : संजय लीला भंसाली की इस फिल्म का राजस्थान के साथ ही देशभर में विरोध का सामना करना पड़ा था. निर्देशक पर इतिहास से छेड़छाड के आरोप लगे थे और कई सिनेमाघरों में इसे प्रदर्शित नहीं किया गया था.

Padmaavat Review: शिवाजी की तरह पद्मावती के पराक्रम को बयां करती ‘पद्मावत’

सम्राट पृथ्वीराज चौहान (2022) : चंद्र प्रकाश द्विवेदी की इस फिल्म में सम्राट अशोक और इतिहास को गलत ​ढ़ंग से पेश करने का आरोप लगा था. अक्षय कुमार की यह फिल्म असफल रही थी.

विवाद बढ़ा देते हैं चर्चा
जब भी किसी फिल्म के साथ विवाद होता है, जाहिर तौर पर उसकी चर्चा बढ़ जाती है. विवाद के साथ ही फिल्म को लेकर आम लोगों के बीच उत्सकुता बढ़ जाती है. विवाद एक तरह से फिल्म के प्रमोशन का काम करता है. इससे जब फिल्म रिलीज होती है तो दर्शकों की संख्या बढ़ जाती है. ऐसे में कई बार मेकर्स इस तरह के विवाद को तूल देते हैं ताकि फिल्म रिलीज होने तक चर्चा बनी रहे.

विभिन्न दलों को भी फायदा
फिल्म के साथ जब विवाद होता है तो कई तरह की बातें निकलकर सामने आती हैं. इससे फिल्म के विषय और इतिहास की कई बातें सामने आती हैं. इसके अलावा विभिन्न दल जैसे विश्व हिंदू परिषद, करणी सेना आदि भी इसके जरिए लाइम लाइट में आ जाते हैं. इससे कहीं ना कहीं इन दलों को भी फिल्म से फायदा होता है.

Tags: Actor Prabhas, Kriti Sanon, Saif ali khan



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.