Sharat Saxena B’day:72वां जन्मदिन मनाने वाले शरत सक्सेना की अधूरी है तमन्ना, फिल्म इंडस्ट्री से है शिकायत!


शरत सक्सेना (Sharat Saxena) ने 70 के दशक में बॉलीवुड में कदम रखा था. ‘मिस्टर इंडिया’, ‘त्रिदेव’, ‘बागबान’, ‘बजरंगी भाईजान’ जैसी सक्सेसफुल फिल्मों में सपोर्टिंग रोल निभाने वाले शरत  प्रसिद्ध धारावाहिक ‘महाभारत’ में भी दमदार किरदार निभा चुके हैं. लंबे-चौड़े बलशाली एक्टर 17 अगस्त 1950 में मध्य प्रदेश के सतना में पैदा हुए. भोपाल से स्कूली पढ़ाई की और जबलपुर से इंजीनियरिंग की पढ़ाई की लेकिन उनका मन तकनीक में नहीं बल्कि एक्टिंग में ही रमता था. अपना 72वां जन्मदिन मनाने वाले एक्टर 1972 में ही अपने सपनों को साकार करने मुंबई आ गए थे. शरत भले ही 72 साल के हो गए हैं लेकिन इनकी फिटनेस देखकर कोई भी धोखा खा जाए. लेकिन जब उन्होंने फिल्मों में करियर बनाने का सोचा तो उनका शरीर ही आड़े आ गया था.

शरत सक्सेना विलेन का रोल हो या कॉमेडी, या फिर कोई सपोर्टिंग किरदार, अपनी तंदरुस्ती की वजह से अलग ही नजर आते हैं. इनका शुरुआती दौर काफी मुश्किल भरा रहा, भारी भरकम शरीर वाले शरत ने फिल्म इंडस्ट्री में मुकाम बनाने के लिए कठिन परिश्रम किया और नतीजा ये हुआ कि ‘बेनाम’ फिल्म में कास्ट कर लिए गए. इस फिल्म में अमिताभ बच्चन और मौसमी चटर्जी के साथ काम करने का मौका मिला. पहली ही फिल्म से शरत ने बता दिया कि बंदे में है दम. इसके बाद तो पीछे मुड़कर देखने का मौका नहीं मिला.

शरत सक्सेना ने इंजीनियरिंग की पढ़ाई के बाद फिल्म इंडस्ट्री में कदम रखा था.

300 फिल्मेें कर चुके हैं शरत सक्सेना
‘बेनाम’ से डेब्यू करने के बाद ‘दिल दीवाना’, ‘एजेंट विनोद’, ‘काला पत्थर’ जैसी तमाम फिल्मों में काम किया ही साथ ही साउथ और पंजाबी फिल्मों से भी ऑफर मिलते रहे. फिल्म इंडस्ट्री में करीब 48 साल का वक्त बिता चुके शरत 300 से अधिक फिल्मों में काम कर चुके हैं. एक्टर ने एक इंटरव्यू में कहा था कि ‘बॉलीवुड में उन्हें जो मुकाम मिलना चाहिए था, वो नहीं मिला. मैं हट्टा-कट्टा था तो मुझे एक्शन रोल अधिक मिले और फिल्मों में पंचिंग बैग की तरह ही इस्तेमाल होता था. हीरो आते मुझे पीट कर चले जाते’.

बॉलीवुड से है शरत को शिकायत
इतना ही नहीं शरत सक्सेना को फिल्म इंडस्ट्री से भी शिकायत है. शरत ने इंटरव्यू में कहा था कि ‘इस इंडस्ट्री में बूढ़े लोगों के लिए कोई काम नहीं है और हम काम चाहते हैं. बुजुर्गों को ध्यान में रखकर जो अच्छे रोल लिखे जाते हैं वह अमिताभ बच्चन को ध्यान में रखकर लिखे जाते हैं. जो खुरचन बचती है वह हमारे हिस्से आती है जिसे हम रिजेक्ट कर देते हैं तो हमारे जैसे के पास काम ही नहीं होता’.

फिटनेस का खास ख्याल रखते हैं शरत
बता दें कि शरत सक्सेना विद्या बालन की फिल्म ‘शेरनी’ में दमदार रोल में नजर आए थे. आमिर खान की फिल्म ‘गुलाम’ के विलेन रोल के लिए फिल्मफेयर नॉमिनेशन मिल था. सबसे अच्छी बात ये है कि शरत भले ही 72 साल के हो गए हैं लेकिन अपने शरीर और सेहत का खास ख्याल रखते हैं.

Tags: Bollywood Birthday, Sharat Saxena



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.