VIDEO: पंकज त्रिपाठी शादी करके आए थे दिल्ली, जमुना पार के इस इलाके से है खास कनेक्शन


पंकज त्रिपाठी (Pankaj Tripathi) बॉलीवुड के वो कलाकार जिन्होंने अलग-अलग किरदार निभाकर लोगों के दिलों में खास जगह बनाई. बिहार के रहने वाले पंकज आज भी अपनी जड़ों से जुड़े हैं. आज ओटीटी किंग के नाम से फेमस हो चुके पंकज त्रिपाठी खुद को जनता का कलाकार कहलाना पसंद करते हैं. आजादी के अमृत महोत्सव की पृष्ठभूमि में न्यूज18 इंडिया द्वारा दिल्ली के ताज पैलेस होटल में आयोजित बेहद खास कार्यक्रम में उन्हें ‘अमृत रत्न सम्मान’ (Amrit Ratna Samman) से नवाजा गया. जहां उन्होंने अपने शुरुआती दिनों से अब तक की जर्नी के बारे में न केवल खुलकर बात की बल्कि लोगों के सवालों के भी जवाब दिया. उन्होंने बातचीत के दौरान दिल्ली से अपने खास कनेक्शन को भी याद किया.

पंकज त्रिपाठी (Pankaj Tripathi) ने ‘अमृत रत्न सम्मान’ (Amrit Ratna Samman) के दौरान कई बातों का जिक्र किया. इस दौरान उन्होंने अपने उन दिनों को भी याद किया जब वह पहली बार दिल्ली आए थे. उन्होंने बताया कि कैसे बिहार के गंगा पार इलाके से आकर वह दिल्ली के जमुना पार इलाके में बसे और वो जीवन कितना हसीन था.

कार्यक्रम के दौरान पंकज त्रिपाठी ने अपने स्ट्रगल के दिनों को याद किया और बताया कि दिल्ली में आकर वह कहां बसे थे. उन्होंने बताया कि आज उस दिल्ली में बहुत बदलाव आ चुका है. एक्टर ने बताया कि दिल्ली जब वह आए तो वह शादीशुदा थे और पत्नी के साथ बोरिया-बिस्तरा बांधकर आए थे. दिल्ली में आकर उन्होंने जमुना पार के इलाके में अपना घर बसाया.

दिल्ली की गीता कॉलोनी में किराए के मकान में वह रहने लगे और करीब यहां 7-8 महीने गुजारे. अपने पुराने दिनों को उन्होंने याद किया और बताया कि उनके घर के सामने ही एक स्कूल था, जिसकी छत पर रोज सुबह कुछ बुजुर्ग लाफ्टर क्लब चलाते थे. रोज सुबह 6 बजे लोगों के हंसने की आवाज आया करती थी. वहीं, पड़ोस में एक सितारवादक थे, रात में सितार बजाते थे, जिसको सुनकर वह सोया करते थे, क्योंकि रोज रात को वह मधुर सी धुन बजाते थे. पंकज त्रिपाठी ने आगे कहा, ‘सितारवादक को सुनकर सोना और सुबह लाफ्टर क्लब को सुनकर हंसना. इतना हसीन जीवन था. सिर्फ कठिनाई ये ही थी कि करना क्या है बस यहीं नहीं पता था’.

दिल्ली के बदलाव पर भी उन्होंने बात की. उन्होंने कहा कि दिल्ली बहुत बदल गई है. मंडी हाउस में पहले मेट्रो स्टेशन नहीं हुआ करता था, लेकिन अब मेट्रो स्टेशन और बाकी डेवलपमेंट के कारण सब कुछ बदल गया है.

आपको बता दें, आज पंकज त्रिपाठी जिस भी मुकाम पर हैं, उसके पीछे के स्ट्रगल और मेहनत की कहानी बेहद लंबी है. पंकज त्रिपाठी इंडस्ट्री के वह स्टार हैं, जो स्टारडम के बावजूद हमेशा ही जमीन से जुड़े रहे हैं, यही वजह है कि लोग उन्हें खूब पसंद करते हैं.

Tags: Amrit Ratna Honour, Pankaj Tripathi



Source link

Leave a Reply

Your email address will not be published.